लम्बाई क्यों नहीं बढ़ती? लम्बाई ना बढ़ने के कारण

लम्बाई क्यों नहीं बढ़ती? लम्बाई ना बढ़ने के कारण

आप सब यही चाहते है कि आपकी हाइट भी दूसरों की तरह लंबी हो। और आप सभी अपनी हाइट बढ़ाने के लिए न जाने क्या क्या करते है। लेकिन दोस्तों क्या आपने कभी ये सोचा है कि आपकी हाइट ना बढ़ने के कारण क्या है?

अगर आप हाइट ना बढ़ने के कारण जान ले तो ही बेहतर होगा। क्योंकि अगर आप उन कारणों को जानने के बाद अपनी लंबाई बढ़ाने का प्रयास करते है तो सायद आपकी हाइट बढ़ सकती है। लेकिन लंबाई ना बढ़ने के कई कारण ऐसे भी है कि आप जितना प्रयास कर ले आपकी हाइट नही बढ़ेगी।

Factors affecting height in Hindi| लंबाई ना बढ़ने के कारण

दोस्तों आज आप जानेंगे कि आखिर लंबाई बढ़ती क्यों नही है? यदि आपके हाइट बढ़ाने के सभी प्रयास विफल हो रहे तो पहले लंबाई ना बढ़ने के कारण जाने

1. अनुवांशिक (Genetic) कारण

अनुवांशिक (Genetic) कारण

Genetic यानी अनुवांशिक कारण से लम्बाई (हाइट) ना बढ़ाना सबसे बड़ी वजह है। यदि आपके माता पिता की लम्बाई ज्यादा नही है तो आपकी भी लम्बाई भी ज्यादा नही होगी। लेकिन अगर आप कड़ी मेहनत करते है तो आपकी लम्बाई बाद सकती है। वैसे तो लम्बाई न बढ़ने का प्रमुख कारण यही है।

2. सेक्स (लिंग)

आमतौर पर लडकिया लड़को से कुछ इंच छोटी होती है। आपकी लम्बाई इस पर भी निर्भर करती है कि आपका सेक्स क्या है। हालांकि लड़को का शरीर भी खेलने कूदने के लिए ही बना होता है और लड़कियां थोड़ा कम ही खेलना पसंद करती है।

लेकिन आजकल कोई भी पीछे नही है और लड़कियां बढ़ चढ़ कर हर गेम्स में हिस्सा लेती है। लेकिन मान्यता यही है कि लड़कों की हाइट लड़कियॉ के ज्यादा ही बढ़ती है।

ये भी पढ़ें: आसानी से हाइट कैसे बढ़ाए?

3. पर्यावरण की स्थिति (Environmental conditions)

हमारा geographic area भी हमारी ऊंचाई को प्रभावित कर सकता हैं। उदाहरण के लिए, Scandinavian लोग अक्सर बहुत लंबे होते हैं। अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों जैसे कि नेपाल में लोग छोटे कद के होते हैं।

दुनिया की सिर्फ 5- 6% आबादी समुद्र तल से 1,500 मीटर की ऊँचाई पर रहती है।

4. संतुलित आहार

यह मुख्य कारणों में से एक है जो आपकी ऊंचाई को प्रभावित करते हैं। बच्चा के गर्भ में होन्स के लेकर जब तक वह वयस्क नहीं हो जाता, पौस्टिक आहार उनकी वृद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

ये भी पढ़ें: संतुलित आहार क्या है? संतुलित आहार के तत्व व डाइट प्लान।

जब हम एक अच्छे आहार के बारे में बात करते हैं, तो हमारा मतलब है कि हम स्वस्थ आहार खा रहे हैं जो हमारे शरीर को सभी आवश्यकता की पूर्ति करता है।

अधिक व पौस्टिक खाना खाने से बच्चों को बढ़ने में मदद मिल सकती है। स्वस्थ विकास के लिए खाद्य पदार्थों का सही संतुलन प्राप्त करना अधिक महत्वपूर्ण है।

लेकिन आनुवांशिकता उन प्रमुख कारकों में से एक है जो बच्चों में ऊंचाई को प्रभावित करते हैं, आहार भी मुख्य होता है। लेकिन संतुलित आहार को अधिक स्तर के अभाव वाले कारणों में देख सकते हैं, जहां बच्चों को अक्सर उन पोषक तत्वों की प्राप्ति नहीं होती है जिनकी उनके शरीर को जरूरत होती है। यह जीवन में बाद में परिणाम लाता है, क्योंकि उनके शरीर सही ढंग से विकसित नहीं हो पाता यानी के लम्बाई नही बढ़ती।

सुनिश्चित करें कि आपके बच्चे को वो सभी पोषक तत्व और विटामिन प्रदान करे। यदि अभी तक यह नहीं किया हैं, तो अब शुरू करने का समय है।

5. पर्याप्त नींद नहीं लेना

नींद सभी के लिए अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण है, और बच्चों के लिए तो और भी बहुत अधिक। मानव विकास हार्मोन, जिसे HGH या सोमाटोट्रोपिन के रूप में जाना जाता है, रात में गहरी नींद में अधिक सक्रिय होता है, हालांकि यह दिन में हर 3 से 5 घंटे के अंतराल में भी जारी होता है। लेकिन इतना नही की हाइट बढ़ सके। इसिलिये पर्याप्त नींद ले।

6. खेल-कूद

शारीरिक गतिविधि हड्डी व कोशिकाओं के उत्पादन को उत्तेजित करती है जो मजबूत, स्वस्थ हड्डियों को विकसित करने में मदद करती हैं। बास्केटबॉल, फुटबॉल जैसे खेल बच्चों को फिट रखने के साथ-साथ लम्बे होने में मदद कर सकते हैं।

7. उम्र (age)

दोस्तों आपकी उम्र पर भी निर्भर करता है कि आपकी हाइट कितनी और कब तक बढ़ सकती है। वैसे तो लम्बाई 21 की उम्र तक भी बढ़ती है। लेकिन 14-17 की उम्र में हाइट बढ़ने की गति बहुत ही अधिक होती है। और हां उम्र बढ़ने के साथ ग्रोथ प्लेट्स भी बंद होने लगती और आपकी हाइट रुक जाती है। एक बार ग्रोथ प्लेट्स बंद हो जाये तो उसके बाद लम्बाई नही बढ़ती।


अध्ययन बताते हैं कि आनुवांशिकता आहार की तुलना में अधिक प्रभावशाली है

अध्ययनों के अनुसार, एक बच्चे की ऊंचाई उनके जीन(gene) द्वारा 80% निर्धारित की जाती है। शेष 20% पोषण और उनके पर्यावरण जैसे कारकों पर निर्भर करता है, हालांकि यह समझने के लिए कि इन कारको की क्या भूमिका होती है, हमे और अधिक अध्ययन करने की आवश्यकता है

मैं यही आशा करता हूँ कि आपको आपकी जानकारी मिल गयी होगी। इसिलिये यह जानकारी अपनर दोस्तों को भी शेयर करे।

कमेंट करना ना भूले।

Leave a Comment