White Hair problem reasons and solution in Hindi

White Hair problem reasons and solution in Hindi

दोस्तों खुबसूरत दिखना को पसंद नही करता। लेकिन शरीर मे कुछ असमय बदलाव के कारण हममें कुछ कमियां रह जाती है। बालों का सफेद होंना उन सभी मे से सबसी बड़ी समस्या है। आजकल युवाओ में सफेद बालों की समस्या कुछ ज्यादा ही है।

खासकर लड़कियों में सफ़ेद बालो की समस्या कुछ ज्यादा ही होती है। वैसे तो बाल 30 की उम्र के बाद ही शुरू होती है। लेकिन pollution व अन्य कारणों की वजह से बाल कम उम्र में ही सफेद हो जाते है।

कई लोग तो बालो में डाई, hair colour लगाते है ताकि सफेद बालो को छुपा सके। और ऐसा करने से बाल और खराब होने लगते है।
आईये जाने की सफेद बालो के कारण व सबसे अच्छे उपाय।

बाल सफेद (hair white) क्यों होते है| White hairs reasons in Hindi:

आज हम जानेंगे कि बाल सफेद होने क्या कारण होते हैं
नई कोशिकाओं (cells) के उगने से हेयर फोलीसेल्स (hair fosicles) पुरानी कोशिकाओं को बाहर निकाल फेंकते हैं, यही बाल उगने की प्रक्रिया होती है।

white hair problem

यह प्रक्रिया तीन चरणों को पूरा करती है, जिसमें ऐनाजेन (बढ़ना), केटाजेन (रुकना) और टेलोजेन (झड़ना) शामिल होता है। टेलोज़ेन के बाद ही नए बाल उगने शुरू होते है। जब बाल बढ़ते है तो उन्हें pigment से उनका रंग मिलता है। इसीलिए हर व्यक्ति के बालों का कॉलोर थोड़ा बोहोत अलग सा होता है।

उम्र बढ़ने से शरीर मे pigment कम होता जाता है और बाल सफेद होने लग जाते है।
Generally तो बाल ऐसे ही सफेद होते है। आईये बाल सफेद होने के अन्य कारण जानते है

Genetic (आनुवंशिकता):

Mother and daughter with white hairs

बालो का जल्दी या असमय सफेद होने का कारण यह भी है। यह निर्धारित करता है कि आपकी किस उम्र में बालों का सफेद होना (pigment की कमी) शुरु हो जाएगा।

मेलेनिन (melanin) की कमी:

Melanin working

मेलेनिन एक natural colour देने वाला प्रदार्थ है। यह अधिकतर जीवों में मिलता है। सही पोषण न मिलने से मेलेनिन की कमी हो जाती और बाल सफेद होने लगते है।

मेडिकल स्तिथि:

थाइरोइड (thyroid), विटामिन बी-12 की कमी, pitutry gland में समस्याओं की वजह से भी बालों के सफेद होने के risk बढ़ जाते है।

तनाव (Tension):

stressed girl

बालों के सफेद होने के पीछे तनाव का बड़ा हाथ होता है। तनाव की वजह से हमारी शरीर पर काफी प्रभाव पड़ते है जिनमे से एक बालो का सफेद होना भी है।

रसायन (Chemical):

chemicals

रसायन वाले शैंपू, साबुन व हेयर डाई आदि का उपयोग बाल सफेद होने का कारण बन सकते है। यह समस्या allergy की वजह से भी हो सकती है।

Environmental कारण:

बाल सफेद होने के और भी कई reasons हो सकते हैं, जैसे कि प्रदूषण, जलवायु व हेयर डाई में बदलाव आदि भी शामिल हैं।

अब हम जानेंगे कि बालों को सफेद होने से रोकने के solution व घरेलू उपाय क्या है।

सफेद बालों के घरेलू उपाय। White Hairs Home remedies in Hindi:

बालों का सफेद होना आप मेडिकल की दवाइयों के जरिए भी कम कर सकते हैं, लेकिन इनके side effects का खतरा बहुत ज्यादा रहता है। इसलिए, आप इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए नीचे बताए गए घरेलू उपायों को अपना सकते हैं :

1.आंवला करे बालों को काला:

आंवला

तीन-चार आंवलें ले व एक कप नारियल का तेल लें। अब
आवंलों को धोकर छोटे-छोटे टुकड़ो में काट लें। अब नारियल तेल के साथ कटे हुए आंवलों को 10-15 मिनट तक उबालें।
15 मिनट बाद किसी बर्तन में इस मिश्रण को सुरक्षित रख दें। आप रोजाना दो चम्मच इस मिश्रण से सिर की मसाज करें। लगभग 1-2 घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें।
हफ्ते में दो-चार बार इसे करें।

लाभ:
आंवला बालों के लिए एक tonic की तरह काम करता है। इसमें, विटामिन-सी भरपूर मात्रा में होता है, जो इसे अच्छा एंटीऑक्सीडेंट एजेंट(antioxidant agent) बनाने का काम करता है। बालों के लिए इसके कई फायदे हैं, यह खराब बालों की मरम्मत करने के साथ-साथ बालों में पिगमेंटेशन (pigmentation) की मात्रा को भी ठीक करता है, जिससे बालों को कुदरती रंग (black) प्राप्त करने में मदद मिलती है। बाल सफेद होने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप इसका प्रयोग बताए हुए तरीके से कर सकते हैं।

2.करी पत्ता भी है लाभकारी:

करी पत्ता

10-15 करी पत्ते ले व तीन चम्मच नारियल का तेल लें।
नारियल तेल में करी पत्तों को डालें और 10 मिनट तक उबालें। फिर तेल को छान लें और ठंडा होने के लिए रख दें।
अब तेल से खोपड़ी की अच्छी तरह मालिस करें। उसके
एक या दो घंटे बाद बालों को शैंपू से अच्छे से धो लें। इसे हफ्ते में 2-4 बार इसे दोहराएं।

लाभ:
सफेद बालों के घरेलू इलाज के तौर पर आप करी पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। करी पत्तों बालों में मेलानिन पिगमेंटेशन को बढ़ाने की क्षमता होती हैं। करी पत्तों में विटामिन-बी भी अधिक होता हैं, जिससे बालों के उगने में भी मदद मिलती है। असमय बालों की सफेदी से छुटकारा पाने के लिए आप करी पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

3.हीना का प्रयोग करें:

पांच चम्मच हीना पाउडर, एक चम्मच कॉफी पाउडर व एक कप पानी लें। अब कॉफी पाउडर को पानी में अच्छी तरह से मिला लें। अब उस घुली हुई कॉफी में हीना पाउडर को अच्छे से मिलाएं। फिर इस मिश्रण को खोपडी पर लगाएं। 2-3 घंटे बाद बालों को शैंपू से अच्छे से धो लें। इस मिश्रण को तीन हफ्तों में एक बार लगाएं।

लाभ:
बालों की सफेदी ढकने के लिए हीना का प्रयोग एक अच्छा तरीका है। यह बालों के सफेद भागों को हल्का लाल रंग देता हैं, जिससे सफेदी ढक जाती है। कॉफी और हीना का मिश्रण बालों को रंगने का एक natural तरीका है। हीना बालों को मुलायम बनाने में भी मदत करता है। chemical से बनी डाई की जगह हीना का इस्तेमाल करना ज्यादा फायदेमंद होता है।

4.नारियल का तेल और नींबू का रस लगाए:

coconut lemon

दो चम्मच नारियल का तेल व दो चम्मच नींबू का रस ले। अब
नारियल के तेल को नींबू के रस के साथ हल्का गर्म कर लें।
फिर इस मिश्रण को स्कैप्ल और बालों में लगाएं।
30-40 मिनट बाद बालों को शैंपू से अच्छे से धो लें।
हफ्ते में दो बार यह प्रक्रिया दोहराएं।

लाभ:
नींबू में विटामिन-बी और सी के साथ phosphorous भी पाया जाता है। यह बालों के रोम में पिगमेंट cells को नियंत्रित करने का काम करता है। असमय सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप नींबू के रस का प्रयोग कर सकते हैं।

5.प्याज का रस लगाए:

एक का प्याज ले व एक चम्मच जैतून का तेल ले। अब
प्याज को बिल्कुल बारीक काट लें और जैतून के तेल के साथ मिला लें। उसके बाद सूती कपड़े से मिश्रण को निचोड़ कर रस निकाल लें। फिर इस रस से करीब 10-15 मिनट तक स्कैल्प की मसाज करें तथा आधे घंटे बाद बालों को शैंपू से अच्छी तरह धो लें। यह प्रक्रिया हफ्ते में दो या तीन बार दोहराएं।

लाभ:
सफेद बालों के घरेलू उपचार के तौर पर प्याज का इस्तेमाल सदियों से किया जाता रहा है। प्याज का रस कैटलस से भरपूर होता है, जो एक कारगर antioxident enzyme के रूप में काम करता है। असमय सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए आप प्याज के रस का प्रयोग कर सकते हैं।

6.शीशम का तेल लगाए:

दो चम्मच शीशम का तेल, दो चम्मच नारियल का तेल व गर्म तौलिया ले। शीशम और नारियल के तेल को हल्का गर्म कर लें। अब तेल से 10 मिनट तक खोपड़ी की मालिश करें।
फिर तौलिये को गर्म पानी में डालकर अच्छे से निचोड़ लें और फिर इससे सिर को आधे घंटे के लिए ढक लें।
उसके बाद बालों को शैंपू से धो लें। यह प्रक्रिया हफ्ते में दो-तीन बार करें।

लाभ:
सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप शीशम के तेल का प्रयोग कर सकते हैं। यह एक प्राकृतिक हर्बल रंग है, जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। यह आपको सफेद बालों की समस्या को दूर करता है। आप बताए गए तरीके से इसका इस्तेमाल नारियल तेल के साथ कर सकते है।

7.अरंडी और सरसों का तेल के भी फायदे:

एक चम्मच अरंडी का तेल व दो चम्मच सरसों का तेल लें।
अरंडी और सरसों के तेल को अच्छे से मिलाकर हल्का गर्म कर लें। अब खोपड़ी (स्कैल्प) और बालों पर लगाकर 10-15 मिनट तक मालिश करें।
1घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें। इसे हफ्ते में दो-तीन बार दोहराएं।

लाभ:
सफेद बालों के उपचार के लिए आप अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका प्रयोग नारियल के तेल के साथ करने से फर्क जल्दी दिखता है। अरंडी के तेल में ओमेगा-6 फैटी एसिड पाया जाता है (8), जो असमय बालों की सफेदी से निजात दिलाने का काम करता है। इसमें हुमेक्टैंट नामक एक और तत्व पाया जाता है, जो बालों को मॉइश्चर करता है।

8.मैथी के बीज के फायदे:

दो चम्मच मैथी के बीज व कप का एक चौथाई पानी ले
मैथी के बीजों को रातभर के लिए पानी में भिगोकर रख दें।
सुबह पानी के साथ ही बीजों को ग्राइंडर में डालकर पीस लें व पेस्ट बनाएं। अब इस पेस्ट को सखोपड़ी में बालों पर लगाएं। लगभग 40 मिनट बाद बालों को शैंपू और कंडीशनर से धो लें।यह प्रक्रिया हफ्ते में एक-दो बार दोहराए।

लाभ:
मैथी के बीज विटामिन-सी, आयरन, पोटेशियम और लाइसिन जैसे पोषक तत्व से युक्त होते हैं। ये तत्व न सिर्फ बालों को असमय सफेद होने से रोकते हैं, बल्कि बालो को स्वस्थ बनाने का काम भी करते हैं। सफेद बालों की समस्या से निजात पाने के लिए आप मैथी का प्रयोग भी कर सकते हैं।

9.तुरई व नारियल तेल लगाए:

सूखी कटी हुई तुरई व एक कप नारियल का तेल लेवें। अब
एक air tight बर्तन में नारियल का तेल और सूखी कटी हुई तुरई डाल दें। कंटेनर को बंद करके 4-5 दिन के लिए छोड़ दें। इसके बाद दो चम्मच तेल कंटेनर से निकाल लें और हल्का गर्म कर लें। इसके बाद तेल से खोपड़ी में बालों की 10-15 मिनट तक मालिश करें।
अब आधे घंटे तक बालों में तेल लगा रहने दें। फिर शैंपू और कंडीशनर से बालों को धो लें।
यह प्रक्रिया हफ्ते में 2-3 बार करें।

लाभ:
सफेद बालों के लिए तुरई एक टॉनिक की तरह काम करती है, जो बालों की जड़ो की गहराई तक जाकर बालों के फॉलिकल्स को पोषित देती है। तुरई में एंजाइम मौजूद होते हैं, जो बालों में पिगमेंट को बढ़ाने में मदत करते हैं। यह घरेलू तरीका बालों को स्वस्थ रखने के साथ-साथ बालों के प्राकृतिक रंग को बरकरार रखने में बहुत फादेमंद है। सफेद बालों की समस्या से निजात पाने के लिए आप तुरई का भी प्रयोग कर सकते हैं।

10.Black tea का प्रयोग करें:

black tea

दो चम्मच ब्लैक टी व एक कप पानी लें। आपको एक कप पानी में ब्लैक टी को 10-15 मिनट तक उबालना है। उसके बाद ब्लैक टी को ठंडा होने के लिए रखें। अब इसे अपनी खोपड़ी में बालों पर अच्छी तरह से लगाएं और 5 मिनट तक मालिस करें।
लगभग 1 घंटे तक ब्लैक टी को बालों पर लगा रहने दें।
एक घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें। यह प्रक्रिया हफ्ते में 2-3 बार दोहराएं।

लाभ:
असमय सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप ब्लैक टी का प्रयोग करें। ब्लैक टी अपने एंटीऑक्सीडेंट गुण के कारण बालों को काला रखने में मदद करती है। यह बालों की shine बढ़ाने और उन्हें helathy रखने में भी मदद करती है।

Tips for White Hair control | White hair solution in Hindi

सफेद बालों के अन्य solution जाने। अगर आप इन solution को अपनाते है तो काफी हद्द तक बालो का सफेद होना कम हो सकता है।

धूम्रपान से दूर रहें

no smoking

धूम्रपान भी हमारे बालों को काफी ज्यादा प्रभावित करता है, यह असमय बालों की सफेदी का कारण भी बना सकता है। Research में यह बात सामने आई है कि 30 वर्ष की उम्र से पहले महिला और पुरूष में बालों के सफेद होने का एक कारण धूम्रपान बन भी है। इसलिए, बालों में प्राकृतिक रंग बनाए रखने के लिए धूम्रपान से दूर रहें।

विटामिन-बी12

शरीर में विटामिन-बी12 की कमी होने से भी बाल समय से पहले सफेद हो जाते हैं। आप उन पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करें, जिनमें अन्य पोषक तत्वों के साथ विटामिन-बी12 भी मौजूद होता है।

खानपान

गलत खानपान की वजह से शरीर को सही से पोषण नहीं मिल पाता। इसका गलत असर बालों पर भी पड़ता है। सही पोषण की कमी से बाल समय से पहले सफेद होने लग जाते हैं। आप हरी-सब्जियों के साथ-साथ खट्टे फल, बादाम, अखरोट व chicken को अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं।

लौकी

लौकी का जूस शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होता है। असमय सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए आप रोजाना लौकी का जूस पी सकते हैं।

White grass

असमय बालों की सफेदी से निजात पाने के लिए आप white grass का जूस भी रोजाना पी सकते हैं। White grass में विटामिन A, B complex, C, E, chlorophyll, amino acid, iron, selenium, copper, calcium, iodine और antioxidant enzyme ‘catlus’ से भरपूर होता है, जो समय से पहले बालों को सफेद होने से रोकने में मदद करता है।

क्या White hairs फिर से black हो सकते है?

हां, यदि सही देखभाल और उपचार किया जाए तो सफेद बाल फिर से काले हो सकते हैं, लेकिन अगर समस्या अनुवांशिक (genetic) या आयु (age) से संबंधित है, तो ऊपर दिए गए उपाय काम नहीं करेगें।

बालों में पिगमेंटेशन (pigmentataion) की कमी हो सकती है, लेकिन सही उपचार व संतुलित आहार के द्वारा इसे नियंत्रित किया जा सकता है। इस लेख में बताए गए सभी घरेलू उपचार पिगमेंटेशन को बढ़ावा देने का काम आते हैं। सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप इन प्राकृतिक नुस्खों का सहारा ले सकते हैं।

यह content आपके लिए किस प्रकार उपयोगी रहा, हमें कमेंट बॉक्स में बताना बिल्कुल भी न भूलें।

ये भी पढ़े:

डैंड्रफ कम करने से 15 सबसे अच्छे उपाय।

बालों के झड़ने के कारण व उपाय।

बालों के लिए सबसे अच्छे योगासन।

गंजे हो चुके सिर पे दोबारा नए बाल उगने के उपाय।

Leave a Comment